जाने लहसुन के गुण कि कितने काम की चीज है यह नाचीज लहसुन - Ayurveda : A Holistic approach to Health, age and Longevity

Breaking

Ayurveda : A Holistic approach to Health, age and Longevity

Ayurveda-A Natural Treatment System developed in India that has been passed on to humans from the God Dhanvantari, themselves who laid out instructions to maintain health as well as fighting illness through therapies, massages, herbal medicines, diet control, and exercise.

Sidebar Ads

test banner

Healthcare https

Ayurvedlight.com

Ancient Natural Traditional Science

WWW.AYURVEDLIGHT.COM

Thursday, October 6, 2016

जाने लहसुन के गुण कि कितने काम की चीज है यह नाचीज लहसुन

लहसुन को रोजाना खाने में प्रयोग करते होंगे लेकिन क्या आपको पता है कि इससे फेफड़े की गंभीर बीमारी को सुधारा जा सकता है।  जानिए और फायदे? गर्भवती महिलाओं के गर्भस्थ शिशु का वजन बढ़ाने के लिहाज से भी लहसुन का सेवन फायदेमंद है।

लहसुन के गुण http://www.ayurvedlight.com/




  • यह शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाता है और जुकाम व फ्लू से दूर रखने में मदद करता है।
  • लहसुन में अधिक मात्रा में आयोडीन है जो हाइपोथायरॉइड की समस्या का उपचार करने में मददगार है।
  • लहसुन में विटामिन सी की अधिकता है जो त्वचा और बालों को सेहतमंद बनाए रखने के लिहाज से फायदेमंद है।
  • लहसुन बेहतरीन एस्फ्रोडिक है जिसका सेवन शरीर में रक्त संचार बढ़ाता है और कामेच्छा बढ़ाने में मदद करता है।
  • लहसुन के गुण लहसुन के सेवन से बैड कोलेस्ट्रॉल कम होता है और गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है जिससे हृदय संबंधी रोगों का रिस्क कम हो जाता है। लहसुन में अधिक मात्रा में आयोडीन है जो हाइपोथायरॉइड की समस्या का उपचार करने में मददगार है।
  • लहसुन में विटामिन बी6 अच्छी मात्रा में है जो प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ मूड भी अच्छा बनाता है।
  • लहसुन के गुण http://www.ayurvedlight.com
  • डेली टाइम्स में प्रकाशित शोध की मानें तो लहसुन के सेवन से सिस्टिक फाइब्रोसिस जैसे जानलेवा फेफड़े के संक्रमण को खत्म किया जा सकता है। इसमें मौजूद एलिसिन नामक तत्व किसी एंटीबायोटिक से कम नहीं है।
  1. 1. Bacterial Infections:लहसुन में सल्फ्यूरिक कम्पाउंड होते हैं जो फंगल,बैक्टीरियल और वैजाइनल इन्फेक्सन को पूर्णतः ठीक कर देता हैं। The infections like fungal, bacterial and vaginal infections are treated with garlic with the sulphuric compound.
  2. Blood Pressure:The diseases like hypertension, high blood pressure, cardiovascular diseases will be cured with the good amount of allicin presented in garlic.लहसुन में अच्छी मात्रा में एल्किन होता है जो हाइपरटेंसन,हाई ब्लड प्रेशर, कार्डीयोवेस्कुलर डिजीज़ को क्योर कर सकता है।
  3. Bone Health: The good amount of calcium and potassium in garlic helps in strengthening the bone and increases stamina as well. लहसुन में पोटेशियम व कैल्शियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूती देता है तथा व्यक्ति का स्टेमिना बढ़ती है।
  4. Brain Cancer: Garlic is rich in sulfur compound and it is proven scientists and intake of garlic helps to get rid of Brain cancer.लहसुन में गंधक के यौगिक पाये जाते हैं जो ब्रेन के कैंसर को हटाने में सहायता करता है।यह वैज्ञानिकों ने सिद्ध किया है। 
  5. Cholesterol: Garlic is known risk factor for the heart disease.  Garlic helps in reducing the bad cholesterol and increasing the good cholesterol in human body. लहसुन में हृदय रोगों से लड़ने की ताकत पायी जाती है। यह बुरे कॉलेस्ट्राल को घटाता है तथा अच्छे कॉलेस्ट्राल को बढ़ाता है।
  6. Common cold: Adding garlic to your diet is good, if you get cold often.  It boosts up the immune system.लहसुन को अपनी डाइट में इस्तेमाल करना बहुत अच्छा है यदि तुम्हैं प्रायः सर्दी रहती है तो यह आपके प्रतिरोधक तंत्र को मजबूत कर देता है।
  7. Diabetes: Garlic regulates the blood sugar level and simultaneously it enhances the level of insulin in the blood. लहसुन ब्लड में सुगर के लेविल को नियंत्रित करता है और ब्लड में इंसुलिन के लैवल को बढ़ाता है।
  8. Hair Growth: Rub sliced cloves of garlic on your scalp and massage it.  Garlic is rich in allicin that effectively treat hair loss लहसुन की कलियाँ को चटनी जैसा बना कर उसका तेल बनाकर  मसाज करने से बाल झड़ने की समस्या से मुक्ति पायी जा सकती है।
  9. Leg Pain: With the worse blood circulation in the legs may causes leg pain.  Taking garlic for 12 weeks continuously can cure leg pain.ब्लड सर्कुलेशन के कारण कभी कभी टाँगों में दर्द हो जाता है, ऐसे में लहसुन को बारह सप्ताह तक लगातार लेने से टाँगों में खराब रक्त परिसंचरण से होने वाला दर्द ठीक हो जाता है।
  10. Ring Worm:The compounds in garlic may assist in getting rid of ring worm by applying the garlic paste in it. रिंग वर्म अर्थात दाद को मिटाने के लिए लहसुन का पेस्ट बनाकर दाद पर लगा देने से दाद पूर्णतया ठीक हो जाता है।
  11. Stomach Cancer: Intake of garlic with your diet can decrease the risk of developing stomach cancer. भोजन में लहसुन को लेने से पेट के कैंसर का खतरा कम हो जाता है।

No comments:

Post a Comment

OUR AIM

ध्यान दें-

हमारा उद्देश्य सम्पूर्ण विश्व में आय़ुर्वेद सम्बंधी ज्ञान को फैलाना है।हम औषधियों व अन्य चिकित्सा पद्धतियों के बारे मे जानकारियां देने में पूर्ण सावधानी वरतते हैं, फिर भी पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे किसी भी औषधि या पद्धति का प्रयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में ही करें। सम्पादक या प्रकाशक किसी भी इलाज, पद्धति या लेख के वारे में उत्तरदायी नही हैं।
हम अपने सभी पाठकों से आशा करते हैं कि अगर उनके पास भी आयुर्वेद से जुङी कोई जानकारी है तो आयुर्वेद के प्रकाश को दुनिया के सामने लाने के लिए कम्प्युटर पर वैठें तथा लिख भेजे हमें हमारे पास और यह आपके अपने नाम से ही प्रकाशित किया जाएगा।
जो लेख आपको अच्छा लगे उस पर
कृपया टिप्पणी करना न भूलें आपकी टिप्पणी हमें प्रोत्साहित करने वाली होनी चाहिए।जिससे हम और अच्छा लिख पाऐंगे।

AYURVEDLIGHT Ad

WWW.AYURVEDLIGHT.COM