BREAKING NEWS

Fashion

Tuesday, October 25, 2016

शीघ्रपतन कारण व उपचार --- असर कारक व सस्ती सी दवा

शीघ्रपतन  का उपचार Shighrapatan Treatment  --- 

शीघ्रपतन एक ऐसा रोग है जिसमें शरीर से बलवान युवक भी किसी नारी के साथ यौन सम्बन्ध बनाते समय सिर शर्म से झुका लेता है जिसके कारण समय समय पर पुरुष कुण्ठा का शिकार हो जाता है।
यौवन शक्ति एक प्रभु प्रदत्त वरदान है आपका दाम्पत्य जीवन बड़ा तृप्त,मानसिक आनन्द युक्त हो जाता है।सो जिसके द्वारा आपका यह लोक तो सुन्दर बनेगा ही साथ ही साथ मृत्यु उपरान्त आपकी इसी यौन शक्ति से प्राप्त पुत्र या पुत्रियाँ आपका नाम चलाऐंगे लैकिन बहुत से लोग इस शक्ति को फिजूल में ही खर्च कर देते हैं।जिससे उनका दाम्पत्य जीवन बड़ा ही अतृप्त,क्लेशयुक्त व मनोमालिन्य युक्त हो जाता है।अतः व्यक्ति को अपनी जीवन चर्या वचपन से ही बड़ी सात्विक रखनी चाहिए।तथा यह प्रयास करना चाहिये कि बच्चों की जीवनचर्या भी सात्विक रखें।
sigapatan-a man sexual problem
sigrapatan

Shighrapatan rokne ki dawa शीघ्रपतन का आयुर्वेदिक इलाज ---

पौष्टिक आहार का सेवन,नीयमित रुप से व्यायाम,उचित दिनचर्या मन में प्रसन्नता व उमंग के साथ निम्न योग का सेवन आपके युवावस्था की गलतियों को दूर करने में सहायक होगीं-
योग निम्न है-
  • काली मूसली का चूर्ण एक चम्मच (5 ग्राम)
  • वंग भस्म (0.5 ग्राम)
  • शहद मिलाने के अनुसार थोड़ा सा
तीनों चीजों को आपस में मिलाकर सुबह खाली पेट ही खाकर व रात को सोने से पहले खाकर सेवन करें।इसके बाद पानी से कुल्ले न करें मुँह का थूक निगल निगल कर साफ करें।आधा घण्टा बाद मीठा कुनकुना गर्म दूध पी लें।इस प्रकार 3 महिने में ही आपमें भरपूर यौवन झलकने लगेगा।साथ में साबधानी यह रखें कि आपका चित्त कामुक प्रवर्तियों की तरफ जितना हो सके न जाए।क्योंकि इससे आपका वीर्य अधोगामी ही होगा तो फिर दवा अपना काम करे और साथ ही साथ इसकी हानि करते रहै तो क्या लाभ मिल पाएगा।अगर शादी सुदा हैं तो महिने में इस दवा को सेवन के काल में 2-3 वार ही ज्यादा से ज्यादा सेक्स सुख लें ये भी बहुत ही ज्यादा है कहने का तात्पर्य यह है कि जितना दवा का फायदा लेना है वह दवा का समय पूरा होने के बाद ही लिया जाए उसी में ही भलाई है।इस दवा को जब तक चाहैं ले सकते है कभी यह नुकसान नही करेगी हाँ कोई भी बाजीकारक दवा को प्रयोग करते समय यह ध्यान रखे कि आपका पेट हमेशा साफ ही रहै। क्योंकि वर्तन अगर खाली होगा तभी तो कोई चीज इसमें भरी जा सकेगी फिर पाचन तंत्र ही दी गयी दवा को भली भाँति पचाकर शरीर के लिए उपयुकत माहौल तैयार कराएगा और दवा अपना असर दिखाएगी। 

शीघ्र स्खलन का घरेलू इलाज,शीघ्र स्खलन के आयुर्वेदिक उपाय,शीघपतन का इलाज,शीघ पतन के उपाय,शिघ्रपतन,शीघ्र स्खलन का इलाज,शीघ्र स्खलन की आयुर्वेदिक दवा,Shighrapatan ka ayurvedic dawa, Premature Ejaculation Cure, PE Treatment

Share this:

6 comments :

  1. मिश्रण काली मूसली, शहद वंग की भस्म ।

    शीघ्र-पतन में लाभकर, निभा ढंग से रस्म ।

    ReplyDelete
  2. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।।

    ReplyDelete
  3. Replies
    1. MANU PRAKASH TYAGI Ji, मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। आप हमारे इस blog को भी पढं सकते हैं, मुझे आशा है कि ये आपको जरूर पसंद आयेगा। जन सेवा करने के लिए आप इसको Social Media पर Share करें या आपके पास कोई Site या Blog है तो इसे वहां परLink करें ताकि अधिक से अधिक लोग इसका फायदा उठा सकें।
      Health World in Hindi

      Delete
  4. I like this knowledge for social welfare। मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। मुझे लगता है कि आपको इस website को देखना चाहिए। यदि आपको यह website पसंद आये तो अपने blog पर इसे Link करें। क्योंकि यह जनकल्याण के लिए हैं।
    Health World in Hindi

    ReplyDelete

Sample Text

ध्यान दें-

हमारा उद्देश्य सम्पूर्ण विश्व में आय़ुर्वेद सम्बंधी ज्ञान को फैलाना है।हम औषधियों व अन्य चिकित्सा पद्धतियों के बारे मे जानकारियां देने में पूर्ण सावधानी वरतते हैं, फिर भी पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे किसी भी औषधि या पद्धति का प्रयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में ही करें। सम्पादक या प्रकाशक किसी भी इलाज, पद्धति या लेख के वारे में उत्तरदायी नही हैं।
हम अपने सभी पाठकों से आशा करते हैं कि अगर उनके पास भी आयुर्वेद से जुङी कोई जानकारी है तो आयुर्वेद के प्रकाश को दुनिया के सामने लाने के लिए कम्प्युटर पर वैठें तथा लिख भेजे हमें हमारे पास और यह आपके अपने नाम से ही प्रकाशित किया जाएगा।
जो लेख आपको अच्छा लगे उस पर
कृपया टिप्पणी करना न भूलें आपकी टिप्पणी हमें प्रोत्साहित करने वाली होनी चाहिए।जिससे हम और अच्छा लिख पाऐंगे।
 
Back To Top
Copyright © 2014 The Light Of Ayurveda. Designed by OddThemes | Distributed By Gooyaabi Templates