BREAKING NEWS

Fashion

Sunday, December 7, 2014

काली-लहराती जुल्फों के प्राकृतिक उपाय

जब बात चल रही हों स्वस्थ होने की तो बाल भी हमारे शरीर व स्वास्थ्य का ही एक हिस्सा हैं आजकल दौड़भाग, धूप, धूल, प्रदूषण, रोज नित नए बाजार में आने वाले शैम्पू और आहार में पोषण की कमी इन कारणों से बच्चों से लेकर बड़ों तक को आए दिन बालों को लेकर नित नई समस्याओं से जूझना पड़ता है, जैसे- बालों का झड़ना, सफेद होना, रूसी हो जाना, जूँ की परेशानी, साथ ही साथ बालों का रफ हो जाना यह एक आम समस्या बन गई हैं। 




 
इन्ही समस्याओं से निजात दिलाने के लिए हम आपको बता रहे हैं कुछ फायदेमंद टिप्स, जो आपके बालों की देखभाल कर उन्हें बनाए रखेंगे स्वस्थ, सुन्दर एवं रेशमी....

* तिल के फूल, गोखरू, सेंधा नमक मिलाकर लेप लगाने से नए बाल आते हैं। 

* लौकी और ककड़ी को छिलकों सहित ही सेवन करें या इनका रायता बनाकर भोजन में लें। 

* बालों को झड़ने से रोकने के लिए एरंडी के तेल को गरम कर बालों की जड़ों में हल्के हाथों से मालिश करें।

* खोपरे के तेल को मुलेठी, ब्राह्मी, मेहंदी के पत्ते डाल कर उबालें और ठंडा होने के बाद बोतल में भरकर रखें और नियमित रूप से बालों की मालिश करें। इससे बाल घने, काले, चमकीले तो होंगे ही साथ ही दिमाग को भी पोषण मिलेगा।

* रूसी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए शकर और नींबू का रस मिलाकर लगाएं और बालों को धो लें।

* प्याज का रस निकाल कर तेल की तरह सिर में उससे मालिश करने से जूं मर जाती है।

* आंवला, अरीठा और शिकाकाई को रात्रि में पानी में गला कर रख दें और सुबह उबाल कर इस पानी से बाल धो लें। इससे बाल सफेद होने और झड़ने से बचेंगे।

* नियमित रूप से खोपरे का सेवन करें।

* आंवला, ब्राह्मी, भांगरा, काला तिल को मिक्स करके चूर्ण बनाकर रखें और रोजाना एक चम्मच सेवन करने से बालों को पोषण मिलेगा।

* हफ्ते में एक बार नारियल का दूध निकाल कर रात को बालों में मालिश करें और सुबह धो लेने से बाल खूब चमकने लगेंगे। 


* मेथीदाना गलाकर उसका पेस्ट बनाएं और 1 घंटे तक सिर में लगा रहने दें, बाद में शैंपू करें और फर्क खुद देखें। 

Share this:

2 comments :

  1. मैं एक Social Worker हूं और Jkhealthworld.com के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य के बारे में जानकारियां देता हूं। आप हमारे इस blog को भी पढं सकते हैं, मुझे आशा है कि ये आपको जरूर पसंद आयेगा। जन सेवा करने के लिए आप इसको Social Media पर Share करें या आपके पास कोई Site या Blog है तो इसे वहां परLink करें ताकि अधिक से अधिक लोग इसका फायदा उठा सकें।
    Health World in Hindi

    ReplyDelete
    Replies
    1. वाकई वहुत अच्छा व्लाग है आपका मैं अवश्य ही अपने फेसवुस पर जिसका लिंक https://www.facebook.com/pages/Ayurvedlight/1570409119860565?ref=hl है पर आपकी पोस्टे लिंक कर दिया करुगाँ मै भी एक सोशल वर्कर हूँ हाँ यह जरुर वताऐं कि यह वेव साइट आपने खुद बनाई है या वनवाई है ।धन्यबाद

      Delete

Sample Text

ध्यान दें-

हमारा उद्देश्य सम्पूर्ण विश्व में आय़ुर्वेद सम्बंधी ज्ञान को फैलाना है।हम औषधियों व अन्य चिकित्सा पद्धतियों के बारे मे जानकारियां देने में पूर्ण सावधानी वरतते हैं, फिर भी पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे किसी भी औषधि या पद्धति का प्रयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में ही करें। सम्पादक या प्रकाशक किसी भी इलाज, पद्धति या लेख के वारे में उत्तरदायी नही हैं।
हम अपने सभी पाठकों से आशा करते हैं कि अगर उनके पास भी आयुर्वेद से जुङी कोई जानकारी है तो आयुर्वेद के प्रकाश को दुनिया के सामने लाने के लिए कम्प्युटर पर वैठें तथा लिख भेजे हमें हमारे पास और यह आपके अपने नाम से ही प्रकाशित किया जाएगा।
जो लेख आपको अच्छा लगे उस पर
कृपया टिप्पणी करना न भूलें आपकी टिप्पणी हमें प्रोत्साहित करने वाली होनी चाहिए।जिससे हम और अच्छा लिख पाऐंगे।
 
Back To Top
Copyright © 2014 The Light Of Ayurveda. Designed by OddThemes | Distributed By Gooyaabi Templates