BREAKING NEWS

Fashion

Thursday, February 7, 2013

सालव मिश्री ः औषधि परिचय



सालम मिश्री एक पोधे की जड़ है नीचे चित्र दिया हुआ है आप पहिचान कर सकते हैं।इसे हिन्दी व बंगाली,फारसी आदि भाषाओं में भी सालव मिश्री कहा जाता है।अपभ्रंस रुप में बहुत लोग इसे सालब मिश्री या सालभ मिश्री भी कहा जाता है यह आसानी से किराने की दवा वेचने वालों के यहाँ आसानी से मिल जाती है।यूनानी दवाओं में तो इसका प्रयोग बहुत स्थानों पर मिलता है इस औषधि का प्रजनन संस्थान पर भी विशेष प्रभाव पड़ता है और इसे इसी कारण प्रजनन संस्थान संबंधी योगों में बहुतायत से प्रयोग किया जाता है।

रासायनिक संगठन के हिसाव से इसमें कुछ प्रतिशत केल्शियम और पोटेशियम के लवण म्यूसिलेज,एल्ब्यूमिन,स्टार्च,और शर्करा जैसे तत्व भी पाये जाते हैं।और म्यूसिलेज की अधिकता के कारण इसका सेवन वातिक रसों में गाढ़ापन लाता है।इसी कारण अनेकों शुक्रतारल्य के योगों में इसका सेवन चमत्कारी होता है।चिकित्सकों में यह मान्यता है कि इसमें ऐसे तत्व बहुतायत से विद्यमान हैं जो वीर्य को पुष्ट कर शरीर को शक्तिशाली बनाता है।बहुत से लोग जो शीघ्रपतन से ग्रस्त हैं और इस कारण स्त्री के सामने उन्हैं लज्जित होने की स्थिति बन जाती है यह सालम मिश्री या सालम पंजा एसे लोगों को वडा़ ही लाभकारी औषधि द्रव्य है।
इसके अलावा यह केवल पुरुष रोगों में ही नही यह स्त्रियों के प्रदर रोग व इनके कारण उत्पन्न दुर्वलता आदि दूर करने के लिए भी यह उत्तम औषधि रत्न है।

Share this:

2 comments :

  1. Mujhe aapki di hui jankari achhi lagi aap ek paropkar aur neki ka kam kar rahe h
    Dhanyawad

    ReplyDelete

Sample Text

ध्यान दें-

हमारा उद्देश्य सम्पूर्ण विश्व में आय़ुर्वेद सम्बंधी ज्ञान को फैलाना है।हम औषधियों व अन्य चिकित्सा पद्धतियों के बारे मे जानकारियां देने में पूर्ण सावधानी वरतते हैं, फिर भी पाठकों को सलाह दी जाती है कि वे किसी भी औषधि या पद्धति का प्रयोग किसी योग्य चिकित्सक की देखरेख में ही करें। सम्पादक या प्रकाशक किसी भी इलाज, पद्धति या लेख के वारे में उत्तरदायी नही हैं।
हम अपने सभी पाठकों से आशा करते हैं कि अगर उनके पास भी आयुर्वेद से जुङी कोई जानकारी है तो आयुर्वेद के प्रकाश को दुनिया के सामने लाने के लिए कम्प्युटर पर वैठें तथा लिख भेजे हमें हमारे पास और यह आपके अपने नाम से ही प्रकाशित किया जाएगा।
जो लेख आपको अच्छा लगे उस पर
कृपया टिप्पणी करना न भूलें आपकी टिप्पणी हमें प्रोत्साहित करने वाली होनी चाहिए।जिससे हम और अच्छा लिख पाऐंगे।
 
Back To Top
Copyright © 2014 The Light Of Ayurveda. Designed by OddThemes | Distributed By Gooyaabi Templates